राज एवं राष्ट्र  की आय   अर्थशास्त्र  बिहार बोर्ड क्लास 10th 
Class 10th

राज एवं राष्ट्र  की आय अर्थशास्त्र  बिहार बोर्ड क्लास 10th  ka vvi question ans

राज एवं राष्ट्र  की आय   अर्थशास्त्र  बिहार बोर्ड क्लास 10th 

(1) प्रति व्यक्ति आय क्या है ? 

 किसी देश की कुल आय में कुल जनसंख्या से भाग देने पर जो भागफल आता है वह उस देश की औसत आय क्या प्रति व्यक्ति आय कहलाती हैं |

(2)  राज्य घरेलू उत्पाद से क्या समझते हैं ? 

एक लेखक ने राज में उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं का जो बाजार के बराबर होती है राज्य घरेलू उत्पाद कहा जाता है इसमें राज के द्वारा कुल उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं का मूल सम्मिलित मिली रहती है उसे घरेलू राज उत्पाद कहा जाता है| 

(3) कुल घरेलू उत्पाद क्या है? 

राज एवं राष्ट्र  की आय   अर्थशास्त्र  बिहार बोर्ड क्लास 10th 

घरेलू उत्पाद की धारणा एक बंद अर्थव्यवस्था से सरवन रखता है कुल घरेलू उत्पाद एक देश की भौगोलिक सीमाओं के अंदर एक लेखा बस में उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं को मौद्रिक मूल अंक है इस प्रकार की अर्थव्यवस्था का विदेशियों से कोई आर्थिक सवाल नहीं होता है खुला के बराबर होते हैं उसे घरेलू उत्पाद कहा जाता है|

(4)  कुल राष्ट्रीय उत्पाद तथा शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद में अंतर ज्ञात कीजिए? 

कुल राष्ट्रीय उत्पाद- किसी भी देश के अंतर्गत उत्पाद होता है जिन वस्तुओं और सेवा उत्पाद होता है उनके मौद्रिक मूल्य को कुल 80 उत्पाद कहते हैं फुल मस्ती उत्पाद में केवल हुए हैं बस में सम्मिलित रहती हैं जो उपभोक्ताओं द्वारा अंतिम रूप में वह की जाती है जिसे कपड़ा अंतिम वस्तुओं के लिए अप्रत्यक्ष रूप से वस्तु नहीं है उत्पादन करने में एक ही बार होना चाहिए | शुद्ध राष्ट्रीय  आय -किसी एक बार के अंतर्गत कुल राष्ट्रीय उत्पादों को प्राप्त करने में मशीन औजार रखकर खाने के बाद आदि का एक अंश नष्ट हो जाता है इसलिए उनकी समय-समय पर मरम्मत करानी पड़ती है या उन्होंने बदलना पड़ता है इसे दिसावर एवं प्रत्यय स्थापना वे कहते हैं अतः राष्ट्रीय उत्पादन में से गिरावट आदि का खर्च निकाल देने के बावजूद इस वर्ष वर्ष राष्ट्रीय उत्पादन कहां होता है| 

10th hindi vvi subjective question

राज एवं राष्ट्र  की आय   अर्थशास्त्र  बिहार बोर्ड क्लास 10th 

(5) भारत की राष्ट्रीय आय का अनुमान बताइए क्या योजना कौन में मोहम्मद व्यक्ति आय में वृद्धि हुई है? 

 सुपथम दादा भाई नौरोजी ने 868 में अपनी पुस्तक में भारत की राष्ट्रीय आय होने का अनुमान लगाया था स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात सरकार ने राष्ट्रीय अनुमान लगाने के लिए 1949 में प्रो पीसी लोन 20 की अध्यक्षता में राष्ट्रीय आय समिति नियुक्ति की थी इस समिति के अनुसार 8650 करो रुपया थी1951-52 से भारत में नियमित रूप से रास्ता और इससे समस्याओं का अनुमान लगाया जाता है|   

(6)राष्ट्रीय आय की परिभाषा दीजिए मार्शल पीकू तथा फिशर की राष्ट्रीय आय की परिभाषा में क्या अंतर है? 

राज एवं राष्ट्र  की आय   अर्थशास्त्र  बिहार बोर्ड क्लास 10th 

 मार्शल की भाषा  – किस देश का और पूंजी उसके प्राकृतिक साधनों पर होकर प्रति वस्तुओं का एक समूह पादन करते हैं जिसमें भौतिक तथा भौतिक पदार्थ तथा कई प्रकार की सेवाएं समिति रहती है |

(7) रतिया में मुद्रा के सक्रिय प्रभाव की विवेचना कीजिए? 

आधुनिक समय में राष्ट्रीय आय की धारणा का साधन के रूप में व्यक्त किया जाता है दूसरे शब्दों में राष्ट्रीय मजदूरी और लगाओ मैं आज और लाभ वस्तुओं और सेवाओं की उत्पादन प्रक्रिया के अंतर्गत होती है आज का प्रभाव है तथा इसका उत्पादन क्रियाओं द्वारा होता है यदि सरकार की आर्थिक क्रियाओं का अंतिम उद्देश्य है |

Bihar Board Class 10th Important Question Matric Objective Question

One Reply to “राज एवं राष्ट्र  की आय अर्थशास्त्र  बिहार बोर्ड क्लास 10th  ka vvi question ans

Leave a Reply

Your email address will not be published.