borad bihar 10th hindi
Class 10th

बिहार बोर्ड क्लास 10th हिंदी साहित्य || VVI questions Answer long or short

matric subjective Question, 10th Objective Question, janan Question, 10th Importan Question,

VVI questions Answer long or short

(1) लेखक किस विडंबना की बात करती है बृंदावना का स्वरूप क्या है।

लेखक बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जी मीणा की बात करते हो कहते हैं कि इस युग में भी जातिवाद के पॉस्को की कमी नहीं है जिसका स्वरूप है कि जाति प्रथा सम विभाजन के साथ-साथ श्रमिक विभाजन का रूप ले रखा है जो अभी अभिशाप है और इस बिना सुबह खुश नहीं है इस जातिवाद नहीं होना चाहिए लोगों के मन के भाव को निकाल देना चाहिए और इस नीति से बढ़ना चाहिए तभी भी जातिवाद को नहीं मानना चाहिए।

(2) किन किन कारणों से बहादुर ने 1 दिन लेकर को घर छोड़ दिया था।

बहादुर ईमानदार का एवं कर्मठ नौकर था जब तक बहादुरपुर सदस्य को प्यार मिलता रहा तब तक वह अपने ईमानदारी से काम करता है वह लिखकर के घर काम करता रहा जब लेखक का पुत्र किशोर से पीटने लगा और उनको कोई जगह पर रहने का अवसर नहीं दिया गया वह हंसकर पिता हजरतगंज चलता रहा इस घर में मेरे को कोई चाहने वालों ने जो मेरी सच्चाई को समझ सके आता इसी काम से बहादुर ने लेकर घर छोड़ दिया था।

(3) बहादुर के चल जाने पर घर में सब को पछतावा क्यों आता था।

बहादुरगढ़ के चले जाने पर सब को पछतावा हुआ करता था क्योंकि बहादुर जैसे ईमानदार कर्मठ नौकर आप कहां मिलेगा वह तो अपनी तनखा भी छोड़ कर चले गए और कुछ भी नहीं ले गए आपने उसने अपना तनख्वाह भी छोड़ दिया उस पर गलत आरोप लगे ज उनकी पर गलत मर्यादा को कर उसकी पिटाई करने लगे थे और कोई उसे चाहने नहीं लगे थे इस घर में इन सब गलतियों के कारण सबको पछतावा होता था।

VVI questions Answer long or short

(4) सच में कौन थी उसकी परिवारिक परिस्थितियां का चरित्र चित्रण प्रस्तुत करें।

लक्ष्मी झाड़ते हुए विश्वास कहानी का प्रमुख पात्र है उसकी पति लक्ष्मण का कविता में एक छोटा सा नौकरी करता था पति द्वारा प्राप्त राशि ससुर घर गृहस्ती नहीं चल पाता था तो वह एक तहसीलदार साहब के घर में जाकर काम कर इस किसी तरह अपना जीवन यापन कर लेती थी पूर्वजों को द्वारा छोड़ा गया 1 बीघा खेत है किसी तरह लक्ष्मी ने उस में खेती करवाई है वर्षा नहीं होने के अंकुर जल गए तो कहीं-कहीं धांसू कैंप के लिए इसी कारण से लक्ष्मी को घर में बहुत दुखद सूचना पा रहा था।

(5) पिता अपने ही घर में क्यों घुटन महसूस करती थी।

सीता के पति के मरते हैं घर में दयनीय स्थिति हो गई थी सीता के भाइयों में अब से अधिक से अधिक मतभेद उत्पन्न हो गए थे कोई केवल अपनी पत्नी और संतान में ही सिमट गया और मिलकर अपने ही परिवार में रहने लगे मां को भी देखरेख एवं भरण पोषण के लिए तीनों भाइयों ने 1 महीने को पारी बांधी थी उसको भी पूरा नहीं कर पाते थे सीता किसी भी बेटे के साथ रहती थी तो वह अंतर में दुखी रहती थी और दुखी वह महसूस करते थे यही कारण अपने ही घर में घुस कर रही थी इसी कारण घर में घुसकर।

शिक्षा और संस्कृति महात्मा गांधी बिहार बोर्ड क्लास 10th हिंदी सहित

Leave a Reply

Your email address will not be published.